किताब

छत्तीसगढ़ की पत्रकारिता की पत्रकारिताः कल, आज और कल

आदरणीय दोस्तों,

छत्तीसगढ़ की पत्रकारिता का गौरवशाली इतिहास रहा है तो वर्तमान भी उतना ही चमकदार है। राज्य का दर्जा पाने के पहले छत्तीसगढ़ की पत्रकारिता में जो ओज था आज भी वह कायम है। यह एक छोटे से राज्य के लिये गौरव की बात है। मैं भी इसी छोटे राज्य का हूं और मेरी पत्रकारिता भी यहीं से आरंभ हुई।छत्तीसगढ़ की पत्रकारिता की पत्रकारिता ः कल, आज और कल शीर्षक से लगभग अंतिम चरण में हैं। मैं बहुत जल्द ही इसके कुछ अंश आपके पढ़ने के लिये ब्लाग पर पोस्ट करूंगा। इस विश्वास के साथ कि आप पढ़ कर बेबाकी से अपनी प्रतिक्रिया देंगे। बस, थोड़ा सा इंतजार।

मनोज कुमार मो. 09300469918

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलेक्ट्रॉनिक माध्यम या मुद्रित माध्यमों का व्यवसायिकरण

मीडिया का बाजारवाद

रिसर्च जर्नल ‘समागम’ का अंक रेडियो पर