सोमवार, 5 अक्तूबर 2009

कुछ अलग

एक खबर यह भीरिपोर्टरमध्यप्रदेश के संस्कृति विभाग ने हाल ही में सतना में तुलसी संस्थान के नये भवन का उद्घाटन किया। कार्यक्रम में कांगे्रस के वरिष्ठ नेता अर्जुनसिंह उपस्थित थे। उन्होंने कार्यक्रम को संबोधित भी किया। कार्यक्रम में वर्तमान भाजपा सरकार की शिक्षामंत्री अर्चना चिटनीस भी उपस्थित थी और स्वाभाविक है कि कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ता भी बड़ी संख्या में उपस्थित थे। इस कार्यक्रम मेें मध्यप्रदेश के संस्कृति सचिव मनोज श्रीवास्तव, संस्कृति संचालक श्रीराम तिवारी और आदिवासी लोककला अकादमी के निदेशक कपिल तिवारी भी उपस्थित थे। इस भवन का निर्माण श्री सिंह के सांसद निधि से मिले चालीस लाख और मध्यप्रदेश संस्कृति विभाग के पांच लाख को मिलाकर किया गया है। उद्घाटन खबर नहीं है लेकिन खबर यह है कि लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस के भीतर उठे बवाल के बाद एकाएक हाशिये पर चले गये अर्जुनसिंह पहली दफा किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में दिखे। राजनीतिक हलकों में बात चल पड़ी है कि अर्जुनसिंह बहुत जल्द की प्रदेश की राजनीति में सक्रिय होने वाले हैं। कुछेक चुटकी लेने से भी गुरेज नहीं कर रहे हैं कि भाजपा के शासनकाल में अर्जुनसिंह की वापस सक्रियता के मायने क्या हैं। फिलहाल यदि कुछ ऐसा होता है तो अर्जुनसिंह की इस नयी पारी के साक्षी होंगे संस्कृति सचिव मनोज श्रीवास्तव, संस्कृति संचालक श्रीराम तिवारी और आदिवासी लोककला अकादमी के निदेशक कपिल तिवारी।

खादी और गांधी पहले से ज्यादा प्रासंगिक हो रहे हैं-रघु ठाकुर

भोपाल। ‘खादी केवल वस्त्र नहीं बल्कि वह अनेक आयामों से जुड़ा हुआ है. जैसे जैसे समय गुजरता जा रहा है, वैसे वैसे खादी और गांधी अधिक प्रासंगिक...